प्रधानमंत्री बनने को लेकर राहुल गांधी को लगा जोर का झटका, तेजस्वी ने साफ कर दिया कि..

लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, विपक्ष के तमाम दल ‘मोदी सरकार दोबारा ना आने देने के लिए’ खूब जोर लगा रहे हैं. इसको लेकर महागठबंधन बनाने की कोशिश भी की जा रही है. हालाँकि इस महागठबंधन की राय से पहले कांग्रेस की तरफ से साफ़ कर दिया गया है कि ‘अगर कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरती है तो राहुल गाँधी ही प्रधानमंत्री पद के दावेदार होंगे.’ फ़िलहाल कांग्रेस के इस ऐलान के बाद भी विपक्ष के बाकी दलों की तरफ से कुछ ऐसे बयान आये हैं जो राहुल गाँधी को झटका दे सकते हैं.

फाइल फोटो: तेजस्वी यादव ने पीएम पद के लिए गिनाये चार नाम (फोटो सोर्स: जी न्यूज़)

तेजस्वी का ये बयान राहुल गांधी के सपनों को चूर-चूर कर सकता है

जी न्यूज़ की खबर के मुताबिक राहुल गाँधी भले ही पीएम बनने का सपना देख रहे हों लेकिन उनके इस सपने पर तेजस्वी ने अपने एक बयान से पानी फेर दिया है. दरअसल मोदी सरकार को रोकने के लिए तमाम विरोधी दल एक साथ तो आ रहे हैं लेकिन अपनी हैसियत को कम नहीं आंकने वाले दलों के नेताओं में पीएम बनने की ललक भी खूब दिखाई दे रही है.

 

राहुल गाँधी पीएम बनने के सपने तो खूब देख रहे हैं लेकिन महागठबंधन के चलते सच होना मुश्किल है (फोटो सोर्स:-oneindia)

महागठबंधन की तरफ से प्रधानमंत्री की रेस में चार और नाम

कांग्रेस की तरफ से राहुल गाँधी को प्रधानमंत्री पद का दावेदार घोषित करने के बाद राजद संभाले हुए तेजस्वी यादव ने कहा है कि सिर्फ राहुल ही नहीं हमारे पास चार और नेता हैं प्रधानमंत्री बनने की रेस में.

तेजस्वी यादव ने कहा कि, “उनकी पार्टी उसी उम्मीदवार को समर्थन करेगी जिसका सर्मथन महागठबंधन के सभी दल करेंगे, राहुल गाँधी ही ऐसे इकलौते नेता नहीं है प्रधानमंत्री बनने के लिए. कांग्रेस एक तरफा राहुल गाँधी को पीएम पद का दावेदार घोषित नहीं कर सकती. महागठबंधन की तरफ से ममता बनर्जी, मायावती, शरद पवार और चन्द्रबाबू नायडू भी पीएम पद की दावेदारी रखते हैं.”

सिर्फ राहुल अकेले ऐसे नेता नहीं है जो पीएम बनना चाहते हैं, महागठबंधन में और भी कतार में हैं जिनके मन में प्रधानमंत्री बनने की इच्छा है (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

पीएम बनने के लिए जिस तरीके से महागठबंधन में होड़ लगी हुई है उससे तो साफ़ है कि विपक्ष की एकजुटता खतरे में है और वो आने वाले चुनाव में काफी अहमियत रखेगा. महागठबंधन को बहुमत मिलेगा या नहीं ये तो दूर की कौड़ी है लेकिन जिस तरीके से पीएम पद के लिए खींचतान दिखाई दे रही है वो NDA के लिए खासकर बीजेपी के लिए काफी फायदेमंद है.

 

Facebook Comments