इस बड़े विधायक ने बताया विधानसभा में रखा विस्फोटक उनकी हत्या के लिए था और उसे रखने वाला कोई और नहीं बल्कि…

विधानसभा में मिले विस्फोटक पदार्थ से मची अफरा-तफरी

12 जुलाई को उत्तर-प्रदेश की विधानसभा में मिले एक पाउडर को लेकर अफरा-तफरी मच गयी थी. पाउडर को फोरेंसिक टीम के लिए दे दिया गया था. फोरेंसिक टीम ने विधानसभा में मिले पाउडर की पुष्टि की है जो एक विस्फोटक पदार्थ बताया जा रहा है. विधानसभा में सुरक्षा को लेकर ये काफी बड़ी चूक है जिसका परिणाम बहुत घातक हो सकता था. विस्फोटक मिलने के बाद उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री ने योगी आदित्यनाथ ने वर्तमान में चल रहे सत्र की सुरक्षा की व्यवस्था को बेहद गंभीरता से लिया है. योगी ने विधानसभा सत्र के दौरान कहा कि यह बेहद गंभीर मामला है इससे बहुत बड़ा नुकसान हो सकता था.

source

इस बड़े नेता की जान लेने के लिए रची गयी थी साजिश?

विधानसभा में विस्फोटक  मिलना अपने अप में हैरान करने वाली खबर थी. ऐसे में इसी हैरानी की कड़ी में जुड़ते हुए मऊ से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी ने एक चौंकाने वाला बयान ज़ारी किया है. बता दें यूँ तो मुख्तार अंसारी इस वक़्त जेल में बंद हैं लेकिन उन्होंने विधानसभा में विस्फोटक मिलने के मुद्दे पर कहा है कि ये विस्फोटक सदन में उनकी हत्या के लिए रखा गया था.

source

सीएम योगी ने दिए जांच के आदेश 

बताते चलें कि 12 जुलाई को यूपी विधानसभा में सदन के अंदर सीट के पास से विस्फोटक पदार्थ मिला था। इस मामले का खुलासा शुक्रवार को हुआ था. इसी के साथ योगी ने कहा सुरक्षा की जिम्मेदारी हम सब लोगों की है सरकार अपना काम अच्छे ढंग से कर रही है. सुरक्षा को लेकर सरकार की ही जिम्मेदारी नहीं है हम सभी को सामूहिक तरीके से सुरक्षा की जिम्मेदारी लेनी चाहिए. उन्होंने कहा कि बजट सत्र के दौरान विधायकों के आलावा कोई और विधानसभा में नहीं आ सकता है. उन्होंने कहा किसी एक व्यक्ति को खुश करने के लिए ये खतरा मोल लिया जा सकता है यह बेहद गंभीर प्रकरण है.

source

सुरक्षा में हुई चूक तो योगी आदित्यनाथ ने उठाया ये बड़ा कदम 

इस बड़ी चूक के सामने आने के बाद सीएम योगी ने कहा सदन की सुरक्षा को लेकर हम सबकी एक सहमति होनी चाहिए, लेकिन विपक्ष की सीट के पास विस्फोटक मिलना चिंता का विषय है. यह हरकत सीधे विधानसभा की सुरक्षा में सेंध जैसा है.आपको बता दें कि 11 जुलाई को बजट सत्र प्रारंभ हुआ तथा 12 जुलाई को भी चल ही रहा था. विधानसभा में विधायकों, विधानभवन के कर्मचारी एवं मार्शलों को छोड़कर किसी को आने की अनुमति नहीं है. सत्र के दौरान ही 150 ग्राम विस्फोटक पदार्थ मिला जो विधानसभा को उड़ाने के लिए काफी था.जिसने भी यह हरकत की है उसे कतई बक्शा नहीं जायेगा.

देखे वीडियो 

मुख्तार अंसारी के बयान की ये है बड़ी वजह

अब यहाँ सवाल ये भी खड़ा होता है कि आखिर इस तरह का बड़ा बयान ज़ारी करने के पीछे मुख़्तार अंसारी के पास आखिर क्या ही कारण रहा होगा तो हम आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी और माफिया से राजनेता बने बृजेश सिंह के बीच काफी समय से तनातनी चली आ रही है. अबतक तो उनकी दुश्मनी जगजाहिर भी हो चुकी है. याद हो तो बीच में एक वक्त ऐसा भी आया था जब दोनों एक दूसरे की जान लेने पर उतारू हो चुके थे. आज मुख्तार और बृजेश सिंह दोनों की गिनती प्रदेश के माननीयों में ज़रूर होती है लेकिन इनकी दुश्मनी जस-की-तस बनी हुई है.

source

विस्फोटक मिलने के बाद सख्त हुई सरकार और लिए कुछ बड़े फैसले 

विधायकों को फोन ना लाने के दिए निर्देश

योगी ने विधानसभा में सभी विधायकों से फोन ना लाने की गुजारिश की है तथा इसी के साथ कहा कि सत्र के दौरान चल रहे भाषण को लेकर फोन की घंटी बजने से विवरोध उत्पन्न होता है. कोई भी विधायक अगर भाषण देना चाहता है तो वह फोन न लाने की बजाय नोटबुक लेकर आये.

source

पुरानी गाड़ियों के पास होंगे रद्द

विधानसभा में प्रवेश करने के लिए जितनी भी पुरानी गाड़ियों के पास है उन्हें रद्द किया जायेगा. सभी विधायकों के लिए नयी गाड़ी से प्रवेश करने के लिए नये पास जारी किये जायेंगे. विधायकों की एक गाड़ी के आलावा बाकी सभी गाड़ियों के पास हो निरस्त किया जायेगा. वाहनों के साथ उन्ही लोगों को प्रवेश दिया जायेगा जिनके पास विधानसभा पास होगा.

source

विधानसभा की सभी 6 गेटों पर लगेगा फुल बॉडी स्कैनर

विधानसभा में प्रवेश करने वाले लोगों की फुल जाँच होगी.साथ ही योगी ने कहा है कि नेता कोई भी हो सभी की जाँच हो.विधानसभा स्टाफ की भी फुल जाँच होगी. उन्होंने कहा है स्थिति को गंभीरता को लेते हुए सुरक्षा को लेकर कोई चूक नहीं की जायेगी. चाहे कोई विशेष व्यक्ति क्यों न हो. साथ ही उन्होंने कहा विस्फोटक का आसानी से पता नहीं लग पा रहा है.डॉग स्कवॉयड भी इसे सूंघने में सफल नहीं हो पा रहा था, ये एक साजिश है

Facebook Comments