मोदी के अमेरिका से लौटते वक्त ट्रम्प ने विदाई में किया कुछ ऐसा…

वाइट हाउस में सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प के बीच संपन्न हुई पहली मुलाकात को लेकर दुनिया भर की मीडिया काफी कुछ लिख रहा है l अमेरिका के एक अखबार ‘न्यू यॉर्क टाइम्स’ ने दोनों नेताओं के बीच में खास दोस्ती बताते हुए दोनों को अच्छा दोस्त बताया है l यहां तक की पाकिस्तान के अखबार डॉन ने भी मोदी और ट्रंप के बीच की दोस्ती व सहजता को ‘ब्रोमांस’ करार दिया। ट्रंप ने न केवल मोदी की बहुत तारीफ की, बल्कि भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी लड़ाई और टैक्स रेट घटाने के प्रयासों का जिक्र करते हुए उन्हें अपना ‘सच्चा दोस्त’ भी बताया।

Source

वाइट हाउस के अधिकारियों ने बताया है कि दोनों नेताओं के बीच में जो गर्मजोशी दिखायी गयी है उसका कुछ अलग कारण है वह चीन के राष्ट्रपति सी जिन्फिंग को चिड़ाने के लिए किया गया है l वाइट हाउस के एक अधिकारी ने बताया कि जो गर्मजोशी दिखने को मिल रही है उसके पीछे चीन एक खास वजह है l

Source

सूत्र के अनुसार पिछले कुछ समय से ट्रंप प्रशासन लगातार चीन को उत्तर कोरिया के ऊपर दबाव बनाने के लिए राजी करने की कोशिश कर रहा है। अमेरिका की पुरजोर कोशिशों के बावजूद चीन ऐसा करने के लिए तैयार नहीं हुआ है। ट्रंप प्रशासन कई बार कह चुका है कि उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम रोकना उसकी सबसे बड़ी प्राथमिकताओं में से एक है l

Source

चीन के बढ़ते प्रभाव व उसकी आक्रामकता को देखते हुए भी भारत और अमेरिका आपसी सहयोग बढ़ाने पर और ध्यान दे रहे हैं। अगले महीने दोनों देशों की नौसेनाएं जापान के साथ मिलकर हिंद महासागर में सैन्य अभ्यास करने जा रही हैं। यह आजतक का सबसे बड़ा नौसैनिक अभ्यास होगा। इसके अलावा ट्रंप प्रशासन भारत को 23 ड्रोन्स देने के लिए भी तैयार हो गया है। इसका इस्तेमाल भारत हिन्द महासागर में चीन की पनडुब्बियों व जहाजों पर नजर बनाये रखने के लिए इसका प्रयोग किया जायेगा l

Facebook Comments