रामनाथ कोविंद के शपथ समारोह में पीएम मोदी के सामने आ गये राहुल गांधी जिसके बाद मोदी ने पूछ लिया कि…

काफी समय से देश में एक ख़बर ने सुर्ख़ियों में लगातार अपनी जगह बनाये हुए थी और वो ख़बर थी देश में होने वाले अगले राष्ट्रपति चुनाव की. नामांकन हुआ तो राष्ट्रपति चुनाव के लिए दो प्रबल दावेदारों के नाम सामने उभर कर आये. एक मीरा कुमार का तो दूसरा रामनाथ कोविंद का. देश में कई दिनों से चली उठा-पटक के बीच अंततः गुरुवार 20 जुलाई को भारी मतों से जीता कर रामनाथ कोविंद को देश का अगला राष्ट्रपति चुना जा चुका है.

जीत हांसिल करने के बाद आज 25 जुलाई को जब भारत के 14 वें राष्ट्रपति के रूप में रामनाथ कोविंद जी को संसद के सेंट्रल हॉल में शपथ लेना था तो वहां उनके शपथ ग्रहण समारोह को देखने के लिए ना जानें कितने लोग वहां मौजूद थे. देश भर से सभी राज्यों के मुख्यमंत्री, सभी सांसद और भी कई दिग्गज लोग वहां मौजूद थे. यही नहीं इस समारोह में रामनाथ कोविंद जी के परिवार के भी काफ़ी लोग इस समारोह में शामिल रहे. 

आज जहाँ 25 जुलाई को दोपहर 12 बजकर 15 मिनट पर संसद सेन्ट्रल हॉल में रामनाथ कोविंद ने अपना शपथ लिया. वहीँ इसी मौके पर प्रधानमंत्री मोदी के साथ कुछ ऐसा हुआ जिसकी किसी ने उम्मीद नहीं की थी. जी हाँ आज इस अहम मौके पर संसद भवन के गलियारे में पीएम मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मुलाकात हुई.

आखिर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राहुल गाँधी के बीच ये मुलाकात हुई कैसे…

आपको बता दें कि यह मुलाकात ऐसी मुलाकात थी जिसकी किसी ने कामना भी नहीं की होगी. बता दें कि इस मुलाकात में दोनों लोगों ने शिष्टाचार वश एक दूसरे का अभिवादन किया.

 

असल में आज राष्ट्रपति शपथग्रहण समारोह था, तो उससे पहले नवनिर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के स्वागत के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने कमरे से निकलकर गलियारे में आ पहुंचे.तभी उसी वक्त उसी गलियारे से राहुल गाँधी लोकसभा में अपनी पार्टी के सांसद शशि थरूर और मुख्य सचेतक ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ केन्द्रीय कक्ष की ओर जा रहे थे. तभी पीएम मोदी ने राहुल गाँधी को देखा तो वे रुक गए और उनसे हाथ मिलाते हुए कुछ ऐसा पूछ लिया जिसे सुन राहुल गाँधी भी मुस्कुराने लगे.

आखिर क्या था प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का राहुल गाँधी से सवाल जिसे सुनकर राहुल गाँधी मुस्कुराने लगे… 

 

असल में प्रधानमंत्री मोदी ने जैसे ही राहुल गाँधी को देखा तो उनसे खुद हाथ मिलते हुए पूछा कि ‘ कैसे हैं राहुल जी ‘ ? इस सवाल पर राहुल गाँधी ने भी अपने दोनों हाथ आगे बढ़ा दिए और मुस्कराते हुए कहा कि ” सर, ठीक हूं सर.” खैर इस तरह की बातें तो हमें हमारे देश के प्रधानमंत्री के व्यक्तित्व के बारे में ही बताती हैं कि एक प्रधानमंत्री होने के बावजूद बिलकुल भी घमंड न करते हुए पीएम मोदी ने राहुल गाँधी से खुद हाथ मिलाया और उनसे उनका हालचाल तक लिया. पीएम मोदी ने सिर्फ राहुल गाँधी से ही नहीं बल्कि वहां मौजूद ज्योतिरादित्य सिंधिया और शशि थरूर से भी हाथ मिलाया, जिसके बाद सभी अपने-अपने रास्ते की ओर बढ़ गये.

अभी कुछ ही दिन पहले राहुल गाँधी ने पीएम मोदी की तूलना ‘हिटलर’ से की थी… 

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी की तूलना ‘हिटलर’ से करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और नौकरशाही की तरफ से लोकतांत्रिक संस्थाओं पर ‘व्यवस्थित तरीके से कब्जा’ करके संविधान के जरिए वह भारतीय संविधान को ‘तहस-नहस’ कर रहे हैं. राहुल गाँधी ने पीएम मोदी और आरएसएस पर सीधा वार करते हुए कहा था कि  ‘ ‘हिटलर’ नाम का एक शख्स था और उसने एक बार लिखा- हकीकत पर बहुत मजबूत पकड़ रखो ताकि आप किसी भी वक्त इसका गला घोंट सको। आज हमारे चारों आेर यही हो रहा है। हकीकत का गला घोंटा जा रहा है l’