बिहार में मुस्लिम नेता के बाद अब इस मुस्लिम महिला नेता ने बोला ॐ नमः शिवाय, जिसके बाद इन्हें..

भारत में पिछले कुछ दिनों से इस्लाम के नाम पर नयी नयी बहस छेड़ दी जाती है. कभी भारत माता की जय को लेकर तो कभी वन्दे मातरम् को लेकर, कभी जय श्री राम बोलने पर और तो और आज कल इस्लाम के ठेकेदारों का फतवा भी बड़ा अजीब होने लगा है. जो बात इस्लाम के ठेकेदारों को पसंद न आये तो वे उसके खिलाफ फतवा जारी कर देते है. मौलाना और मौलवी अपने इस अधिकार का कहीं न कही गलत फायदा उठा रहे है और लोगों के अंदर भय पैदा करने की कोशिश कर रहे है. हर बात में इस्लाम को लाकर खड़ा कर देना या इस्लाम की आड़ में मुसलमानों को पकड़ कर रखने वाले मौलाना और मौलवी अब बस अपना फायदा ही देखते है.

Source

बिहार में एक मंत्री ने जब जय श्री राम बोल दिया है कहा कि मै मंदिर और मस्जिद दोनों में जाता हु तो उस मंत्री के खिलाफ बवाल होने लगा और उसके उपर माफ़ी मांगने का दबाव बनाया जाने लगा और तो और मंत्री के खिलाफ मौलाना ने फतवा जारी कर उन्हें  गैरइस्लामिक करार दे दिया और उनके निकाह को अमान्य कर दिया. इसके बाद तो जैसे मंत्री घरवापसी में लग गये. माफ़ी मांगी, और कलमा पढ़कर दुबारा मुसलमान भी बन गये. अब इसी तरह का एक और मामला सामने आया है जिसमें कांग्रेस की एक मंत्री ने जब ॐ नमः शिवाय बोला तो..

Source

दरअसल मध्य प्रदेश में  कांग्रेस की नेत्री नूरी खान एक वीडियो जारी किया है जिसमें उन्होंने एक रथ यात्रा में शामिल होकर ॐ नमः शिवाय का जाप कर रही है इस दौरान नूरी खान ने भगवा वस्त्र धारण कर साधू संतो के साथ एक रथ यात्रा में शामिल हुई. उन्होंनेकहा कि “भारत देश कि एकता के लिए जो भी जरुरी होगा सब करूँगी”.’तो आज कर दो फतवा जारी‘ शीर्षक देकर नूरी खान ने अपने प्रोफाइल पर  अपलोड किये गये फोटो के बाद अब वो भी ठेकेदारों के निशाने पर आगयी है.

नूरी खान के प्रोफाइल से

सवाल यह उठता है कि भाई चारे की बात करने वाले, हिन्दू मुस्लिम भाई भाई करने वाले और तमाम तरह के जुमलों को इस्तेमाल करने वाले लोगो से यह सवाल जरुर पूंछा जाना चाहिए कि क्या इसी तरह एकता और आपस में भाई-भाई की बात हो सकती है? जब कोई मुसलमान हिन्दुओ के समर्थन में कोई बात कह देता है धर्म के ठेकेदारों को मिर्च सी लग जाती है. आपकी जानकारी के बता दें कि गुजरात में आई बाढ़  के बाद अब मंदिरों की सफाई के लिए मुसलमान भाई सबसे आगे आये है और दिन रात एक कर सब जगह सफाई कर रहे है.

कुछ असामाजिक तत्व ऐसे है इस समाज में हिन्दुओ और मुसलमान धर्म के ठेकेदार बने हुए है. ऐसे लोगो को सबक सिखाने की सख्त जरुरत है. हमें ऐसे लोगो के झांसे में आने से बचना चाहिए. मौलवी और मौलाना या बाबा की बात तबतक ही मानी जानी चाहिए जब तक समाज में किसी और को कोई नुकसान न पहुंचा रही हो. इस बात का हमें ध्यान रखना होगा कि आज धर्म के नाम पर ही आम लोंगो भड़काया जाता है. और इसी का फायदा कोई तीसरा उठाटा है. ऐसे में हमने जागरूक होकर रहने की जरूरत है.

Facebook Comments