10 ऐसी शोर्ट फिल्म्स जिन्होंने समाज को झकझोर दिया !

कहते है फिल्मे समाज का आईना होती है, जो कुछ भी समाज में घटित होता है फिल्मे भी वही कहानी बयान करती है l 
हम आपको 10 ऐसी शार्ट यानी लघु फिल्मे दिखाने वाले है जो कह सकते है हमारे कल्पना से भी परे है, इन 5 से 10 मिनट की फिल्मो ने समाज को अन्दर तक झकझोर दिया है जो शायद 3 घंटे की फिल्म भी कभी न कर पाए l 
ये फिल्मे देखने के बाद हो सकता है आपकी धारणाये बदले, हो सकता है हम अपने उस स्टीरियोटाइप विचार जो जकड़े हुए है हमारे नजरिये को ये फिल्म इन सब को ब्रेक करने की क्षमता रखती है l 

1. अहल्या: कलियुग की अहल्या पाषाण में परिवर्तित नहीं होती !

अहल्या नाम सुनते ही आपको रामायण काल की वो अहल्या याद आ गयी होगी जिसे गौतम ऋषि ने श्राप देकर पत्थर बना दिया था लेकिन यह फिल्म आज की अहल्या को दर्शाती है l कहानी फिल्म के डायरेक्टर सुजोय घोष द्वारा निर्देशित 14 मिनट की यह फिल्म सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी l इस फिल्म में राधिका आप्टे, बंगाली एक्टर सौमित्रा चैटर्जी जैसे कलाकारों को दर्शाया गया है l 
ये फिल्म वाकई देखी जाने वाली फिल्म है !

 

2. रास्ता 

दिग्विजय चौहान द्वारा निर्देशित इस  फिल्म की स्क्रीनिंग 2011 में मामी हो हुई थी l यह फिल्म आपको 2 ऐसे लडको की कहानी बताएगी जो मुंबई की सडको पर भीख मांग कर गुज़ारा करते है उनका संघर्ष जीने के लिए और ट्रैफिक सिग्नलों  में लोगो से भीख मांगते हुए यह कहानी वाकई मार्मिक है l

 

3. माइग्रेशन 

यह फिल्म निर्देशित है मीरा नेयर द्वारा और इसकी कहानी लिखी है विशाल भारद्वाज और जोया अख्तर ने l 
यह एड्स जैसी गंभीर मुद्दे पर आधारित है जिसमे इरफ़ान खान राईमा सेन जैसे कलाकारों को फिल्माया गया है l 

 

5. आफ्टरग्लो 

यह फिल्म एक पारसी विधवा और परवार के आपसी प्यार और विचारो को दिखाती है l इस फिल्म को बेस्ट शोर्ट फिल्म नेशनल अवार्ड से नवाज़ा जा चूका है l कौशल ओजा ने इस फिल्म में एक ऐसी विधवा को दिखाया है जो अपना पति खो चुकी है और जिसे झूठी सहानुभूति देने के लिए लोग घर में आते है l 

 

6. ट्यूबलाइट का चाँद 

बिना एक शब्द बोले भी यह फिल्म आपको आपके बचपन की सैर करवा देगी, अद्भुत संगीत और विसुअल स्टोरी के ज़रिये यह फिल्म काफी कुछ ब्यान करती है l अनुराग शर्मा ने इस फिल्म को प्रेजेंट किया है और इसे लिखा और निर्देशित श्लोक शर्मा ने किया है l 

 

7. बाईपास 

अमित कुमार ने 2003 में यह फिल्म तब निर्देशित की थी जब नवाज़ुदीन सिदिकी और इरफ़ान खान जैसे कलाकार बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने के लिए संघर्ष कर रहे थे l यह फिल्म राजस्थान में शूट की गयी है जिसमे सिर्फ इशारो का ही इस्तेमाल किया गया है कहानी बताने किये लिए l 

 

8. लिटिल टेररिस्ट 

https://youtu.be/W6c3qiagjPE

इस फिल की कहानी एक पाकिस्तानी लड़के की है जो गलती से गेंद कैच करते हुए इंडिया आ जाता है और बाद में कहानी शुरू होती है इस लड़के के पकिस्तान वापस जाने के लिए l 
यह फिल्म आश्विन कुमार ने निर्देशित की है जिसे 2005 में अकादमी अवार्ड के लिए भी नोमिनाते किया जा चुका है l 

 

9. ब्लैक मिरर 

इस फिल्म की कहानी आपको उन मेट्रो सिटीज के चमकते दमकते अँधेरे सच से रूबरू कराएगी जिसे आप और हम सब देखते है पर शायद अनजान बने रहते है l 
यह फिल्म कहानी बयान करती एक ऐसे अनाथ लड़के की जिसने अपने माता पिता को बम ब्लास्ट में खो दिया था l 

 

10. चाय 

गीतांजली राव ने इस फिल्म में मेट्रो सिटीज में चल रहे है जिंदगी को लेकर संघर्ष और जिंदगी को लेकर एक नया नजरिया इस फिल्म में दिखाया गया है l