अम्फान से बंगाल में हुई तबाही के कारण CM ममता ने की ये बड़ी मांग

by supriya
0 comment 366 views

कोरोना का प्रकोप लॉकडाउन बढ़ने के बाद भी मरीजों की संख्या का ग्राफ गिरने की बजाय हर दिन जबरदस्त बढ़ रहा है जिसने सभी को हैरान कर दिया है. इसी बीच भारत के ओड़िशा से तूफ़ान अम्फान तूफान से बेहाल बंगाल को तबाह कर गया. केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों ने इस तूफान को लेकर तैयारी की थी, लेकिन इसके बावजूद 80 लोगों की जान हम नहीं बचा पाए हैं. इस तूफान की वजह से काफी संपत्ति का नुकसान हुआ है, जिसमें घर उजड़े हैं और इन्फ्रास्ट्रक्चर को बड़ा नुकसान हुआ है.

160 से 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चले इस तूफान ने त्रासदी मचा दी है. सीएम ममता बनर्जी के मुताबिक राज्य में एक लाख करोड़ का नुकसान हुआ है. बुधवार को पश्चिम बंगाल में अम्फान तूफान ने दस्तक दी थी. कोलकाता के कई जिलों में अम्फान की वजह से पानी भर गया है, वहीं 6 घंटे तक लगातार तूफान के तांडव के चलते कोलकाता एयरपोर्ट को भी नुकसान पहुंचा है. अम्फान का सबसे ज्यादा कहर पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना, दक्षिणी 24 परगना, मिदनापुर और कोलकाता में देखने को मिला. इस दौरान रेलवे को भी बड़ी क्षति पहुंची है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रेल मंत्रालय से मांग की है 26 मई तक रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेन न भेजे. चक्रवाती तूफान अम्फान ने पश्चिम बंगाल में भीषण तबाही मचाई है. प्रभावित जिलों में राहत और मरम्मत का काम चल रहा है, ऐसे में ट्रेनों के संचालन की इजाजत अगले कुछ दिनों तक नहीं दी सकती है.इससे पहले पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव ने भी रेलवे बोर्ड को पत्र लिखा था कि जिला प्रशासन राहत और बचाव कार्यों में लगा है. ऐसे में अगले कुछ दिनों तक स्पेशल ट्रेनों को रिसीव कर पाना संभव नहीं है. ऐसे में अनुरोध किया जाता है कि 26 मई तक कोई भी ट्रेन राज्य में न भेजी जाए.