कुपवाड़ा मु-ठ-भे-ड़ में हुआ बड़ा खुलासा: मा-रे गए आ-तंकि-यों ने पहने थे ऐसे कपड़े जो पहले कभी नहीं देखे गए

by mohini
0 comment 1596 views

हाल ही में उत्तरी कश्मीर के केरन सेक्टर में कुपवाड़ा मु-ठ-भे-ड़ में मा-रे गये पांच आ-तंकि-यों के पास से बरामद समान से बड़ा खुलासा हुआ है. बात दें आ-तंकियों के पास से ऐसे कपड़े मिली हैं जिन्हें इससे पहले कभी नहीं देखा गया। ख़बरों के अनुसार इन कपड़ों को विशेष रूप से घुसपैठ करने वाले आ-तंकि-यों के लिए बनाया गया है । आ-तंकि-यों के पास से यूनिकोड चार्ट भी बरामद हुए हैं।

एक अप्रैल को केरन सेक्टर के जमगुंड इलाके में सूचना के आधार पर सेना द्वारा तलाशी अभियान शुरू किया गया था। इस दौरान उनका सामना आ-तंकि-यों के एक समूह से हुआ। करीब पांच दिनों तक चले तलाशी अभियान के दौरान एक बार फिर से आतंकियों और सेना के जवानों के बीच भीषण मु-ठ-भे-ड़ शुरू हुई, जिसमें पांच आ-तंकि-यों को मार गिराया गया। इस दौरान सेना के पांच जवान भी श-ही-द हो गए थे।

ये वस्त्र घुस-पैठ के दौरान सैटेलाइट की नजर से बचने में हैं सक्षम

एक अधिकारी के अनुसार बर्फ में सफेद रंग के वस्त्र पहने आतंकी पहले भी देखे गए। ये वस्त्र बर्फ के दौरान घु-सपै-ठ करते समय कैमोफ्लेज(छलावरण) होते हैं और सैटेलाइट इमेजिंग में नहीं दिखते। लेकिन इस बार जो वस्त्र आ-तंकि-यों के पास से मिले वे सफेद होने के साथ-साथ प्रोटेक्टिव भी थे। उन्होंने बताया कि ये वस्त्र अच्छे मटेरियल से बने हैं।

आ-तंकि-यों के पास से यूनिकोड मैट्रिक्स चार्ट भी बरामद हुए हैं, जिससे आतंकी अपनी कोड भाषा बनाते हैं। एक अधिकारी के अनुसार यह भाषा तभी डिकोड हो पाती है, जब आपके पास भी यूनिकोड मैट्रिक्स चार्ट हो। इसलिए समय-समय पर आतंकी यह यूनिकोड चार्ट बदलते रहते हैं ताकि उनकी कोड भाषा आसानी से डिकोड न हो पाए।

एक अधिकारी ने बताया कि इस बार आशंका है कि पाकिस्तान द्वारा घुसपैठ की अच्छी खासी कोशिश की जाएगी। इसका एक उदाहरण था हाल ही में इस बड़े ग्रुप की घु-सपै-ठ। यह भी माना जा रहा है कि टीआरएफ घाटी में हिज्ब के हाथों से कमान लेना चाहता है।