सीता के रोल के लिए रामानंद सागर ने रखी थी ये शर्त, तब हुआ था दीपिका का सेलेक्शन

by mohini
0 comment 48462 views

आज यानी की 28 मार्च को सुबह नौ बजे जैसे ही रामानंद सागर की ‘रामायण’ का प्रसारण दूरदर्शन पर शुरू हुआ सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगा। यही नहीं यूजर्स प्रधानमंत्री और दूरदर्शन को धन्यवाद कह रहे हैं।लोग लॉकडाउन के समय बहुत दिल से रामायण टीवी पर देख रहे हैं। 80 के दशक में जब ‘रामायण’ टीवी पर दिखाई जाती थी तब लोग सीरियल के अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को असल में भगवान मानने लग गए थे। 

रामायण सीरियल में अरुण गोविल ने राम, दीपिका चिखलिया ने सीता और सुनील लहरी ने लक्ष्मण का किरदार निभाया था। हालांकि इन सितारों के लिए रामायण में ये किरदार पाना इतना भी आसान नहीं था। इन लोगों को रामायण में किरदार पाने के लिए कई दौर के ऑडिशन राउंड से गुजरने पड़े, तब निर्देशक रामानंद सागर ने इन्हें चुना। चलिए आज हम आपको सीता यानी दीपिका चिखलिया के ऑडिशन के बारे में बताते हैं कि आखिर कैसे उनका सेलेक्शन हुआ।


हाल ही में ‘रामायण’ के तीनों सितारे कपिल शर्मा के शो में आए थे । शो में रामायण की सीता यानी दीपिका ने बताया कि ‘उस दौरान मैं उनके (रामानंद सागर) साथ ‘विक्रम और बेताल’ में व्यस्त थीं। सीरियल की शूटिंग रामानंद सागर के बंगले में होती थी। वहां एक दिन मैंने देखा कि कुछ बच्चे उछल कूद कर रहे हैं। तब मैंने वहां मौजूद दूसरे लोगों से पूछा कि यहां क्या चल रहा है तो बताया गया कि लव-कुश की कास्टिंग हो रही है। मैंने पूछा कि अच्छा राम-सीता की कास्टिंग हो गई है? तो उन्होंने कहा नहीं।’
दीपिका ने आगे बताया कि ‘एक दिन रामानंद सागर सर का फोन आया कि तुम भी आ जाओ सीता के रोल के लिए, ऑडिशन कर लेते हैं। मैंने उनसे कहा कि मैं आपके साथ दो-तीन सीरियल कर रही हूं। हर वक्त रानी के गेटअप में ही होती हूं। सेट पर वैसे ही घूमती रहती हूं। इसके बाद भी ऑडिशन लेना है।’ 

दीपिका के इस सवाल पर रामानंद सागर ने कहा कि ‘सीता ऐसी लगनी चाहिए कि स्क्रीन पर आए तो इंट्रोड्यूस ना करना पड़े। दर्शकों को ये बताना ना पड़े कि दो तीन लड़कियां चल रही हैं तो उनमें सीता कौन है। इस तरह चार-पांच स्क्रीन टेस्ट के बाद मेरा सेलेक्शन हुआ।’ कई राउंड के ऑडिशन के बाद दीपिका चुनी गईं और आज भी जब सीता का नाम आता है तो जेहन में उनका ही चेहरा उभरता है।