राफेल डील पर आये फैसले पर अखिलेश यादव ने जो कहा है, जानकर आप भी कहेंगे आ गयी अक्ल ठिकाने

राफेल डील को लेकर देशभर में कांग्रेस पार्टियों के साथ कई विपक्षी दलों ने जमकर बवाल मचाया था. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के साथ कई बड़े नेताओं ने फ्रांस के साथ राफेल विमानों की हुई डील को लेकर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा और घोटालों के आरोप लगाये और कीमत को सार्वजनिक करने की मांग की थी. कांग्रेस द्वारा राफेल डील पर फैलाया गया झूठ कई बार पकड़ा भी गया. इसके बावजूद भी राहुल गाँधी अपनी हरकतों से बाज़ नही आये और मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया.

Image Source-Reddifmail

जानकारी के लिए बता दें कांग्रेस ने राफेल डील को लेकर जितनी भी याचिका दायर की थी शुक्रवार 14 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट ने सभी को खारिज कर दिया है. उच्च न्यायलय ने अपने फैसले को सुनाते हुए कहा है कि इस डील की प्रक्रिया में किसी भी तरह की अनियमितता नहीं है. इतन ही नहीं कोर्ट ने कांग्रेस की मांग को भी ख़ारिज कर दिया है, जिसमें उन्होंने राफेल डील की SIT जाँच करने की मांग की थी. कांग्रेस को राफेल डील के बारे में कोर्ट की तरफ से भी मुंह की खानी पड़ी है. अब इस फैसले को लेकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ऐसा बयान दे देंगे किसी ने सोचा भी नहीं होगा.

Image Source-India Today

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सहमती जताई है और कहा है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला अंतिम फैसला है. उच्च न्यायलय से बड़ा कोई भी न्यायलय नहीं है. इसके आगे अखिलेश यादव ने कहा है कि जनता को सुप्रीम कोर्ट से ज्यादा किसी पर भरोसा नहीं है. उन्होंने कहा है कि इस डील की जेपीसी से भी जांच कराने की कोई आवश्यकता नही है. इसके आगे अखिलेश ने कहा है कि अब सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है. उच्च न्यायलय ने सभी पहलुओं पर विचार करने के बाद ही यह फैसला लिया है.

Image Source-Business Today

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के इस बयान के बाद आखिरकार अखिलेश यादव ने इस बात को स्वीकार करते हुए फैसले पर सहमती जताई है, ये एक बड़ी बात है. हालाँकि करना भी चाहिए क्योंकि उच्च न्यायलय से बड़ा और कोई न्यायलय भी नहीं है जो विपक्ष अब वहां जाकर भी अपनी छाती पीटे. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद विपक्षी दलों की जुबान पर लगाम लग गया है. उच्च न्यायलय के इस फैसले के बाद शायद राहुल गाँधी समेत तमाम बड़े नेताओं को अक्ल आ जानी चाहिए जो बिना किसी तथ्य के सरकार को घेरने के प्रयास में लगे रहते हैं और फिर अपनी ही फजीहत करा बैठते हैं.

News Source-ZeeNews

Loading...
Loading...