वीडियो: लोगों ने भाजपा विधायक से कहा, “बिजली नहीं मिल रही” जिसके बाद विधायक बैठ गये धरने पर !

किसी सूबे में सरकार भले ही बदल जाये लेकिन जब अधिकारियों के काम करने के तरीके नहीं बदलते तो सत्ता पक्ष के विधायक को धरने पर बैठना पड़ जाता है. सुनने में थोड़ा अटपटा जरूर लग रहा होगा कि आखिर जब विधायक सत्ता पक्ष के हैं तो धरने पर क्यों ? लेकिन ये सच है. मामला उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले का है. इस जिले की लम्भुआ विधानसभा से एक ऐसी खबर आई है जिसमें भाजपा विधायक को जनता से खूब वाहवाही मिल रही है.

फोटो सोर्स: इंडिया टीवी

दरअसल कोतवाली चांदा क्षेत्र में आये दिन बिजली को लेकर गंभीर शिकायते सुनने को मिल रही थीं. वैसे तो सूबे के मुखिया योगी पिछले साल ही गांवों को 18 घंटे बिजली देने की बात कह चुके हैं लेकिन अधिकारियों की उदासीनता से यह वादा महज वादा ही नजर आ रहा है.

लम्भुआ विधायक देवमणि द्विवेदी और उनकी पत्नी श्रीमती रेखा द्विवेदी लोगों से मिलते हुए

इस तरह की समस्याओं से जब जनता त्रस्त हो गयी तो सुशील तिवारी नाम के एक क्षेत्रवासी ने इसको लेकर लोगों की शिकायत लम्भुआ विधानसभा से बीजेपी विधायक देवमणि द्विवेदी तक पहुंचाई. बिजली अधिकारियों को लेकर मिल रही इस शिकायत के बाद बीजेपी विधायक देवमणि द्विवेदी ने क्षेत्र से सम्बंधित अधिकारियों को एक ‘चौपाल’ कार्यक्रम कर जनता के सामने आकर उनकी समस्याएं सुनने का प्रस्ताव रखा. इस मौके पर विधायक की भी मौजूदगी तय थी.

भाजपा विधायक देवमणि द्विवेदी, अपने समर्थकों के साथ बिजली अव्यवस्था के खिलाफ धरने पर

भाजपा विधायक तो पहुँच गये लेकिन मुख्य अभियंता नदारद रहे

जब ‘चौपाल’ कार्यक्रम का तय समय आया तो भाजपा विधायक देवमणि द्विवेदी चांदा गेस्ट हाउस तो पहुँच गये लेकिन मुख्य अभियंता मीटिंग के लिए ही नहीं पहुंचे. आलम ये था कि बिजली विभाग से कोई अधिकारी मौके पर नहीं आया. जबकि क्षेत्रवासी अपनी शिकायतें लेकर मौके पर मौजूद थे. इस उदासीनता को देखते हुए विधायक द्विवेदी नाराज हो गये और काफी गुस्से में आ गये. जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए भाजपा विधायक ने अधिकारियों के ना आने तक धरने पर बैठने की बात कह दी. इस मौके पर उनके साथ कई समर्थक मौजूद थे. सभी समर्थकों के साथ विधायक काफी देर तक गेस्ट हाउस पर धरने पर बैठे रहे.

फोटो सोर्स: अमर उजाला

बाद में अधिशासी अभियंता(II) मौके पर पहुंचे और तुरंत कार्रवाई और शिकायतों के निपटारे का आश्वासन देते हुए धरने को खत्म करवाया. इस धरने का असर कुछ ऐसा रहा कि अब उक्त क्षेत्र में बिजली प्रभावी तरीके से बेहतर हुई है. विधायक के इस कदम की क्षेत्र में अब काफी चर्चा है कि आखिर विधायक ने जनता की सुनी और कुछ ऐसा कर दिखाया कि बिजली व्यवस्था तत्काल प्रभाव से पटरी पर लौट रही है.

वीडियो में देखिये बीजेपी विधायक का रौद्र रूप:

समर्थन में आये दूसरे दलों के नेता:

एक भ्रष्ट जेई के पक्ष में फैज़ाबाद के सांसद विधायक का पत्र एक क्षेत्र की जनता व उसके जनप्रतिनिधि के लोकतांत्रिक अधिकारों…

Riteshsinh Rajwada ଙ୍କ ଦ୍ୱାରା ଏହି ତାରିଖରେ ପୋଷ୍ଟ୍‌ ହୋଇଛି ମଙ୍ଗଳବାର, ସେପ୍ଟେମ୍ବର 25, 2018

रितेश सिंह रजवाड़ा, कांग्रेस के युवा नेता की वाल से ली गयी है ये पोस्ट

Loading...
Loading...