घटना को अंजाम देने के बाद आखिर दो आरोपी फिर क्यों गये थे घटनास्थल पर?

हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ हुई घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है. महिला के साथ दुर्व्यवहार से पूरे देश चकित है और हैरान भी! हालाँकि अब चारो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है लेकिन अब इस घटना से जुडी जो जानकारियों या खुलासे सामने आ रहे है वो और भी चौकाने वाले है.

मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस ने बताया है कि चारो ने बलात्कार के बाद महिला डाक्टर की हत्या कर दी और फिर मिटटी का तेल डालकर जला दिया. इसके बाद वहां से सभी के सभी फरार हो गये. तेलंगाना टुडे की रिपोर्ट के अनुसार इस वारदात को 2 से 2:30 बजे के बीच अंजाम दिया गया था. इसके बाद आरोपी वहां से चले गए, लेकिन उन चारों में से दो आरोपी घटनास्थल पर ये देखने के लिए वापस लौट आए कि महिला डॉक्टर की बॉडी पूरी तरह से जली या नहीं.

चारो आरोपियों ने अपने जुर्म को कबूल कर लिया है. चारो आरोपियों ने दुष्कर्म के बाद महिला डॉक्टर को जलाने के अपराध को कबूल कर लिया है. डाक्टर की मां ने इस घटना के बाद मांग की है इन आरोपियों को ऐसे सजा दी जाए कि कोई भी फिर ऐसा करने की हिम्मास्त ना दिखा पाए. वहीँ दूसरी तरफ एक आरोपी की मां ने कहा है कि अगर मेरे बेटे ने ऐसा किया है तो उसे भी जिन्दा जला देना चाहिए. इस पूरे मामले में तीन पुलिस वालों को भी लापरवाही बरतने के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया है.

हमारे समाज को दूषित करने वाले लोग अभी भी इसी समाज में मौजूद है. जिनकी वजह से हमारा पूरा समाज शर्मिंदा है. इस घटना ने हमने निर्भया काण्ड की याद दिलाती है. हालाँकि अभी भी निर्भया के परिजन अपराधियों को सजा दिलाने की मांग के लिए भटक रहे हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या हमारे समाज में इस तरह के अपराधियों को एक मिनट भी जिन्दा रहने का हक़ मिलना चाहिए? क्या ऐसे अपराधियों को खुलेआम ऐसी सजा नही मिलनी चाहिए जिससे इस तरह की घटना को अंजाम देने से पहले लोगों को सौ बार सोचना पड़े? इस पूरी घटना पर आप क्या सोचते हैं हमें कमेन्ट करके जरूर बताइए.