हैदराबाद पीड़िता की सामने आई डीएनए रिपोर्ट, जाँच में हुआ खुलासा

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हुई घटना ने सबको झकझोर कर रख दिया था. इस घटना के चारो आरो’पियों को एक एनका’उंटर में पुलिस ने मा’र गिराया था. इस एनका’उंटर पर कई तरह के सवाल खड़े किये गये थे. हालाँकि अब जो खबर सामने आ रही है उसके मुताबिक महिला डॉक्टर की डीएनए रिपोर्ट आमने आ गयी है.

दरअसल ज’ली हुई बॉ’डी महिला डॉक्टर की ही थी, इसकी पुष्टि के लिए डीएनए की जांच के लिए सैम्पल लिए गये थे. रिपोर्ट आने के बाद ये साबित हो गया है कि ज’ली हुई बॉ’डी महिला डॉक्टर की ही थी और ये उनके परिवारवालों से मैच भी कर गया है. DNA जांच से इस बात की भी पुष्टि हो गई है कि घटना स्थल पर पाए गए सेमिनल के दाग चार आरो’पियों के ही थे. मतलब गुन’हगार भी वही थे. इसके अलावा भी कई और सैम्पल जाँच की रिपोर्ट आने का भी इन्तजार किया जा रहा है.

इस केस के सभी आरो’पियों को पुलिस ने उस वक्त मार गिराया, जब पुलिस जांच के लिए चारो आरो’पियों को घटना पर ले जाया गया था. तभी चारो आरो’पियों ने भागने की कोशिश की जिसके बाद उनका एनका’उंटर कर दिया था. इस एनका’उंटर के बाद पूरे देश में ब’वाल मचा था. सवाल खड़े किये गये थे. इसके साथ ही साथ कई लोगों ने इस एनका’उंटर का समर्थन भी किया था.

इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए आदेश दिया है कि इस एनका’उंटर के जांच किये जाए. इसके तीन सदस्यों की न्यायिक जाँच आयोग का गठन किया है. सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज वीएस सिरपुरकर इसके प्रमुख होंगे. बॉम्बे हाईकोर्ट की पूर्व जज रेखा बालदोता और पूर्व सीबीआई डायरेक्टर कार्तिकेन भी इस आयोग के सदस्य बनाए गए हैं. शीर्ष अदालत ने आयोग को अपनी रिपोर्ट छह महीने में देने को कहा है.