अमेरिका के दबाव के बाद भी जब इजरायल ने पाकिस्तान की ये जानकारी दे दी भारत को

कुछ समय बाद भारत के पीएम मोदी इजरायल दौरे पे जाने वाले हैं. इजरायल में पीएम मोदी का बेसब्री से इंतज़ार हो रहा है. पीएम मोदी एक सम्मेलन में इजरायल के राष्ट्रपति से मिल चुके हैं और दोनों ने इस मुलाक़ात के दौरान बड़ी गर्मजोशी दिखाई थी. पीएम मोदी की ये यात्रा भारत-इजरायल संबंधों में और निकटता लाएगी. आपको बता दें कि दोनों ही देशों ने हमेशा एक दूसरे की मदद की है इसलिए आज हम आपको कारगिल युद्ध से जुड़ी एक महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में बताने जा रहे हैं. कारगिल युद्ध में भारत की विजय के पीछे इजरायल का भी महत्वपूर्ण योगदान था और इजरायल से भारत को एक ऐसी जानकारी भी मिली थी जिसने भारत को आसानी से पाक पे जीत दिला दी.

source

शायद आप न जानते हों कि कारगिल वार के दौरान भारत के साथ इजराइल ने अपने आतंकी संगठनों का सामना करने और उनसे अपनी सीमायें सुरक्षित रखने का अनुभव भारतीय सुरक्षा सेनाओं से साझा किया था. जब भारतीय सेना मुश्किल में पड़ी तो अमेरिका के दबाव के बावजूद इजरायल ने भारत को पाकिस्तान की वो जानकारी दी जिससे भारत को कारगिल युद्ध में विजय प्राप्त हुई.

भारत के सैनिक पाकिस्तान से लड़ रहे थे लेकिन वो उनकी लोकेशन के बारे में सही अनुमान लगाने में पूरी तरह क़ामयाब नहीं हो पा रहे थे ऐसे में इजरायल ने भारत को मदद दी.

source

क्योंकि तब तक भारत के पास सैटेलाईट तस्‍वीरें उपलब्ध कराने की सुविधा मौजूद नहीं थी ऐसे में इजरायल ने भारत को पाकिस्तान के ठिकानों की तस्वीरें दे दीं और इसके बाद भारत के सैनिकों ने पाकिस्तानियों को धूल चटा दी.

 

इसके अलावा इजरायल ने बोर्फोस तोप में इस्‍तेमाल हो सकने योग्‍य गोला बारूद भी भारत को दिया था जिससे भारत के फ़ौज को प्रबलता मिली. इजराइल ने भारतीय वायु सेना को मिराज 2000 एच युद्धक विमानों के लिए लेजर गाइडेड मिसाइल भी उपलब्‍ध कराये थे.

source

आपको बतादें जिस पाकिस्तान के साथ इजरायल के संबंध अच्छे नहीं हैं और वो इजरायल को देश मानता ही नहीं है. इसीलिए इजरायल भी पाकिस्तान को अपना दुश्मन मानता है.