GST बिल लागू होने के पहले ही कुमार विश्वास ने उड़ाना चाहा पीएम मोदी का मज़ाक, लेकिन दांव पड़ गया उल्टा जब लोगों ने कहा, “कवि हो…

देश में 30 जून की आधी रात से ही GST लागू कर दिया गया है| 30 जून की मध्यरात्रि में संसद के सेंट्रल हॉल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नियम के अनुसार घंटी बजाकर जीएसटी लागू किया| यूँ तो जीएसटी लागू  हुए अभी महज़ कुछ ही घंटे हुए हैं लेकिन ये कहना गलत नहीं होगा कि लोगों में अभी भी जीएसटी को लेकर कई तरह की आशंकायें हैं| इसी के चलते आप के कुमार विश्वास ने 30 जून को ही लगभग 11 बजे जीएसटी के बारे में एक ट्वीट किया जिसके बाद लोगों ने उन्हें आड़े हाथों ले लिया| यूँ तो GST बिल देश में लागू कराने के पीछे केंद्र सरकार का मकसद सिर्फ जनता को कई तरह के टैक्स से मुक्ति दिलाना है लेकिन विपक्ष इस मुद्दे पर भी सिर्फ और सिर्फ सरकार को घेरने में लगी हुई है|

source

क्या है GST? 

GST 30 जून मध्यरात्रि से केवल जम्मू-कश्मीर को छोड़कर पूरे देश में लागू हो चुका है| ये जानने से पहले कि GST होता क्या है पहले ये समझ लीजिये कि भारत में आम नागरिकों पर अमूमन तौर पर दो तरह के टैक्स लगाये जाते  है| जिनमे से एक होता है प्रत्यक्ष टैक्स और दूसरा होता है अप्रत्यक्ष टैक्स। प्रत्यक्ष टैक्स में आयकर और कॉर्पोरेट टैक्स आते हैं तो वहीँ अप्रत्यक्ष टैक्स में  बिक्री टैक्स और सेवा टैक्स वगेरह आते हैं। ऐसे में अब GST लागू होने के बाद देश में लगने वाले सभी अप्रत्यक्ष करों की जगह केवल एक टैक्स “वस्तु एवं सेवा कर” लगाया जाएगा।

source

ऐसे में जब कुमार विश्वास ने GST को लेकर एक ट्वीट किया जिसमे उन्होंने लिखा था कि, “देश के नेता आज आधी रात को जागकर देश की जनता की ज़िन्दगी आसान करने वाले हैं| वाकई में अगर ऐसा होता तो सुभानअल्लाह लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो अल्लाह ही बचाए|”

कुमार विश्वास की इस ट्वीट का जवाब देते हुए कुछ लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं देनी शुरू की और बस फिर क्या था, फिर तो मानो इसका सिलसिला सा चल पड़ा| सबसे पहले एक यूजर दीपक कुमार ने कहा कि, “आधी रात को सर्वोच्च न्यायालय का दरवाज़ा  खुलवाने से तो बेहतर ही है ये फैसला| हम उम्मीद करते हैं कि सब बेहतर ही हो|”

तो वहीँ एक दूसरे यूजर ने लिखा कि, “ये GST आप जैसे लोगों को समझ नहीं आएगा| आप कृपया करके अपने भविष्य पर ध्यान दीजिये इन सब बातों को आप छोड़ ही दीजिये, महान कवि|”

तो वहीँ एक यूजर ने बड़े ही मज़ाकिया अंदाज़ में जवाब देते हुए कहा कि , ” आप GST का विरोध तो कर रहे हैं लेकिन ये बात भी समझ लीजिये कि कभी भी फूफा जी के रूठने से कोई शादी नहीं रूकती, या यूँ कहिये आपकी नाराज़गी से GST पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है|”

बता दें जब से GST का जिक्र हुआ है शायद ही किसी विपक्षी पार्टी ने इसका समर्थन किया हो| यहाँ तक कि ये इस बात की नाराज़गी कहिये या केंद्र के फैसले की  खिलाफ़त की GST लागू होने से पहले ही सोनिया गाँधी ने साफ़ कह दिया था कि वो GST पास कराने सदन नहीं जाएँगी और आखिरकार नहीं ही गयीं| ऐसे में कुमार विश्वास का ये ट्वीट करना ही था कि लोगों ने उन्हें अपने निशाने पर ले लिया|