तेल के बढ़ते दामों को देख हरकत में आयी मोदी सरकार, अब जल्द ही हो सकता है…

पेट्रोल और डीजल के दामों को बढ़ने से आम जनता की हालत ख़राब हो गयी है, आये दिन तेल के दामों में पैसे से लेकर रूपये में बढ़ोत्तरी देखने को मिलती है. इसको लेकर सरकार पर काफी दबाव भी है और जनता के साथ विपक्ष का रोष भी झेलना पड़ रहा है. ऐसे में जनता को आराम देने के लिए मोदी सरकार ने आखिरकार बड़ा कदम उठा लिया है. बता दें कि शुक्रवार को मोदी सरकार ने एक अहम कैबिनेट मीटिंग बुलाई जिसमें प्रधानमंत्री मोदी और वित्तमंत्री अरुण जेटली समेत पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान मौजूद रहे.

कच्चे तेल की निर्भरता पर समीक्षा 

बता दें कि अभी कुछ पहले ही सरकार की तरफ से लोगों को राहत देने के लिए तेल के दामों में 2.50 रूपये की कटौती की गयी थी, जिसके बाद जनता को थोड़ी राहत मिली थी. इसके बाद अब सरकार ने जनता की परेशानी को देखते हुए कच्चे तेल के दामों की समीक्षा करने के लिए एक और मीटिंग बुलाई है.

पीएम की अध्यक्षता में बुलाई गयी अहम बैठक 

इस मीटिंग को पीएम के आवास पर बुलाया गया है और माना जा रहा है कि इस मीटिंग में कच्चे तेल पर निर्भरता काम करने पर समीक्षा होगी. पहले दौर की इस मीटिंग के बाद दूसरे दौर की मीटिंग 15 अक्टूबर को होगी. खबर लिखे जाने तक इस बैठक की कार्रवाई जारी थी और माना जा रहा है कि मीटिंग के बाद कुछ अहम घोषणाएं हो सकती हैं. पेट्रोल-डीजल के दामों को कम करने को लेकर कुछ योजनाएं भी घोषित हो सकती हैं. इसके बीच शुक्रवार को फिर से तेल के दामों में बढ़ोत्तरी देखने को मिली.

दिल्ली में शुक्रवार को तेल के दाम 

दिल्ली में शुक्रवार को पेट्रोल के दामों में 12 पैसे की बढ़ोत्तरी देखने को मिली और डीजल में 28 पैसे की बढ़ोत्तरी देखने को मिली. इन बढ़ोत्तरी के बाद से पेट्रोल दिल्ली में 82.48 और डीजल 74.90 हो गया है.

Loading...
Loading...