मोदी के घर में ही जब पीएम मोदी के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग तो देखिये कैसे पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा !

 

30 जून को मध्यरात्रि से पूरे देश में (कम्मू-कश्मीर के अलावा) GST बिल लागू कर दिया गया है|  देश में GST पारित करने और उसे लागू करने के लिए केंद्र सरकार ने क्या कुछ नहीं किया| GST बिल की शुरूआत से ही विपक्ष ने इसपर अपनी असहमति बनाये रखी थी| यहाँ तक कि जब विपक्ष को यकीन हो गया कि अब GST बिल लागू होने से कोई नहीं रोक सकता तो आखिरी अडंगा डालते हुए उन्होंने ये तक कह डाला कि कुछ भी हो वो 30 जून को GST बिल लागू कराते समय सदन में मौजूद नहीं होंगे| खैर इन सब के बावजूद आज देश में GST लागू हो चुका है और केंद्र सरकार की माने तो जल्द ही देश की जनता को इसका फायदा भी नज़र आएगा| अभी GST बिल पास हुए महज़ कुछ ही घंटे बीतें हैं कि इससे जुड़ी एक बड़ी खबर आ गयी है| fvskvs

source

 

GST का हो रहा है विरोध…

जहां देश में GST को लेकर खुशियाँ मनाई जा रही हैं वहीं दूसरी तरफ पीएम मोदी के क्षेत्र गुजरात में ही इसका विरोध हो रहा है. आपको बता दें हाल ही में गुजरात के सूरत से एक वीडियो सामने आया है जिसमें GST का व्यपारी विरोध कर रहे हैं.विरोध करने वाले लोग टेक्सटाइल ट्रेडर्स बताये हां रहे हैं लेकिन हम इस बात की पुष्टि नहीं करते हैं.

 

वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि पहले कुछ लोग GST का जमकर विरोध कर रहे हैं और फिर पुलिस इन लोगों पर लाठी बरसा रहे हैं. देखिये वीडियो !

क्यों हो रहा है विरोध ? 

वीडियो में साफ़ है कि व्यपारी GST का विरोध कर रहे हैं और पुलिस उनपर लाठियां बरसा रही हैं लेकिन सोचने वाली बात है आखिर GST का विरोध क्यों ? ये वही लोग हैं जिनके क्षेत्र में पीएम मोदी की ही सरकार है और उनके नाम पर कभी सबसे ज्यदा खुश रहते थे. इस एक फैसले का इतना विरोध क्यों ? क्योंकि इस फैसले से व्यपारी की 2 नंबर की साड़ी कमाई रुक जाएगी और जिस मोटे स्तर पर वो अभी तक कमाते थे अब नहीं कमा पाएंगे. जहां एक तरफ देश की जनता पीएम मोदी से अच्छे दिनों की मांग करती है,काला धन और भ्रष्टाचार रोकने की मांग करती है वहीं पीएम मोदी के एक फैसले से इस कदर नाराज़ हैं के विरोध कर रहे हैं ?

 

source

आपको बता दें हम इस वीडियो की पुष्टि नहीं करते हैं और ना ही इस मुद्दे पर किसी भी तरह के विचार दे रहे हैं. यह आपकी अपनी समझ है आप GST को किस तरह से समझते हैं.

GST को लेकर अभी भी जनता में कई आशंकाएं हैं

30 जून की मध्यरात्रि में संसद के सेंट्रल हॉल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नियम के अनुसार घंटी बजाकर जीएसटी लागू किया| यूँ तो जीएसटी लागू  हुए अभी महज़ कुछ ही घंटे हुए हैं लेकिन ये कहना गलत नहीं होगा कि लोगों में अभी भी जीएसटी को लेकर कई तरह की आशंकायें हैं|

source

देश और दुनिया से आ रही हैं GST को लेकर प्रतिक्रियाएं 

भारत के इतने बड़े कदम के बाद भला देश और दुनिया कहाँ ही चुप रहने वाली थे| तो सबसे पहले भारत पर 24*7 कड़ी नज़र बनाये रखने वाले आतंकी पड़ोसी पाकिस्तान ने GST पर अपनी प्रतिक्रिया देने से कैसे ही पीछे रहता? तो  पाकिस्तान ने GST के बारे में बात करते हुए GST को नोटबंदी जैसा दूसरा कदम बता डाला है|

source

हालाँकि इससे पहले पाकिस्तान ने की थी GST की तारीफ

हालाँकि पाकिस्तानी मीडिया का GST लागू होने पर इस तरह की प्रतिक्रिया इसलिए भी हिरण करने वाली थी क्योंकि GST लागू होने से पहले जब इसका बिल लोकसभा में पेश किया गया था तब पाकिस्तानी मीडिया ने जमकर इसकी तारीफों  के पुल बांधे थे| पाकिस्तानी विशेषज्ञों ने एक लाइव टीवी डिबेट में ये माना था कि जीएसटी किसी भी देश के लिए एक ऐतिहासिक कदम है और भारत की राह पर चलते हुए पाकिस्तान को भी इसका अनुसरण करना चाहिए| सिर्फ यही नहीं एक पाकिस्तानी पैनलिस्ट ने GST की तारीफ करते हुए यह तक माना था कि देश में भले ही किसी वस्तु पर पैसे बढ़ा दिये जाएँ लेकिन टैक्स भारत जैसा कर देना चाहिए|

source

अब अमेरिका ने जारी किया GST को लेकर ऐसा बयान कि… 

GST के बारे में अपनी राय रखते हुए इस बार अमेरिकी रेटिंग एजेंसी मूडीज के बारे में बयान देकर सबको चौंका दिया है| दरअसल इस अमेरिकी रेटिंग एजेंसी ने भारत में लागू हुए गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स को अच्छा बताया और सकरात्मक बताया है|  अमेरिकी एजेंसी ने रविवार को जारी बयान में कहा है कि अब भारत में जीएसटी लागू होने बाद ज्यादा-से-ज्यादा लोग टैक्स चुकायेंगे जिससे भारत की आय बढ़ेगी|

source

मूडीज के इन्वेस्टर सर्विस के उपाध्यक्ष विलियम फोस्टर ने भारत में लागू हुए GST के बारे में कहा है कि, ” GST लागू हों के बाद आसार ऐसे लग रहे हैं कि अब भारत की आय बढ़ेगी क्योंकि इससे प्रशासनिक सुधार आएगा और अधिक से अधिक संख्या में लोग कर चुकाएंगे। इतना ही नहीं जीएसटी की खासियत बताते हुए मूडीज ने आगे बताया है कि भारत में जीएसटी के चलते अब  उत्पादन क्षमता भी बढ़ेगी जिससे कारोबार में आई सरलता के कारण सकल घरेलू उत्पाद की विकास दर भी तेज होगी।