भ्रष्टाचार रोकने के लिए सरकार ने उठाया अब तक का सबसे हाहाकारी कदम जिसमे आप भी आ सकते हैं घेरे में

ये बात तो किसी से भी छुपी नहीं है कि सरकार ने भ्रष्टाचार को रोकने और उसे भारतीय सिस्टम से जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए अपनी पूरी कमर कस ली है. हाँ वो बात और है कि इस कदम के चलते सरकार की काफी आलोचना भी हुई है लेकिन मोदी सरकार अपने फैसले में अभी तक अडिग है. जानकारी के लिए बता दें कि इसी कड़ी में सरकार ने एक और हाहाकारी कदम उठाने का फैसला लिया है जिसके बाद घेरे में ‘हम आप’ भी आ जायेंगें.

source

जानिए क्या है वो फैसला? 

तो बता दें  कि सरकार के इस फैसले के अंतर्गत अगर आपने भी 30 लाख या उससे अधिक की रजिस्टेशन मूल्य की कोई भी संपत्ति खरीदी है तो अब सरकार उसकी जांच कर सकती है. ये बेनामी संपत्ति की पहचान में सरकार का एक अहम फैसला माना जा रहा है. इस मामले में अबतक मिली जानकारी के अनुसार इनकम टैक्स डिपार्टमेंट अब जल्द ही ऐंटी बेनामी ऐक्ट के अंतर्गत 30 लाख रुपये से अधिक प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन का टैक्स प्रोफाइल की खोजबीन में जुट चुका है. इस मामले की जानकारी मंगलवार को सीबीडीटी चीफ ने दी है. 

source

दरअसल सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि, टैक्सकर्मी उन शेल कंपनियों और उनके डायरेक्टर्स की भी जांच कर रहे हैं जिन पर हाल ही में रोक लगा दी गई है.” इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए आईटी डिपार्टमेंट के मुख्य बॉस ने बताया है कि, “हम कालेधन को सफेद में बदलने के सभी साधनों को ध्वस्त कर देंगे. इसमें शेल कंपनियां भी शामिल हैं. डिपार्टमेंट उन सभी प्रॉपर्टीज की टैक्स प्रोफाइल की जांच कर रहा है जिनकी रजिस्ट्री वैल्यू 30 लाख से अधिक है. यदि ये प्रोफाइल संदेहास्पद या गलत पाए जाते हैं तो ऐक्शन लिया जाएगा.”

नोट: ये जानकारी उस वक़्त मीडिया से साझा की गयी है जब नई दिल्ली प्रगति मैदान में शुरू हुए इंडिया इंटरनैशनल ट्रेड फेयर में टैक्स डिपार्टमेंट के पविलियन का उद्घाटन करने के बाद सुशिल चंद्रा मीडिया से रूबरू हुए थे.

Loading...
Loading...