राहुल गाँधी ने गणेश चतुर्थी पर शुभकामना दी तो जवाब मिला कि ‘ईद-मुहर्रम में तो सुबह ही शुभकामना देते हो लेकिन हिन्दू पर्व पर..’

राहुल गाँधी कोई बयान दें और उस पर बवाल ना हों, ऐसा हो ही नहीं सकता. आलू से सोना बनाने वाले राहुल गाँधी की राजनीतिक गंभीरता तो सबने देखी ही है लेकिन पब्लिक डोमेन पर जब वो कभी शुभकामनायें भी देते हैं तो उन्हें उसपर भी फजीहत झेलनी पड़ती है. मामला गणेश चतुर्थी को लेकर है. 13 सितम्बर को जब राहुल गाँधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से शुभकामना सन्देश लिखा तो उसपर कुछ ऐसे कमेन्ट आये जिसपर खुद राहुल भी यकीन नहीं कर पाएंगे.

राहुल गाँधी की राजनीति ही ऐसी है कि उनके एक-एक शब्द पर लोगों की हंसी छूट जाती है (फोटो सोर्स: btimes.co.in)

राहुल का बधाई सन्देश पड़ गया ‘उल्टा’

दरअसल राहुल गाँधी ने लिखा कि, “गणेश चतुर्थी के अवसर पर समस्त देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं”, वैसे देखने में तो ये एक शुभकामना सन्देश ही है लेकिन जो पार्टी और उसके नेता हिन्दुओं को गंभीरता से ना लेते हों उस पार्टी के अध्यक्ष से ऐसे सन्देश थोड़े असहज लगते हैं. शायद इसीलिए लोगों ने उनके इस सन्देश को मजाक में लेते हुए तंज कसना शुरू कर दिया.

राहुल गाँधी ने 13 सितम्बर को दी थी गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं (फोटो सोर्स: राहुल गाँधी ट्विटर अकाउंट)

इस ट्वीट पर लोगों ने अपने अंदाज पर राहुल की खिंचाई करनी शुरू कर दी. सिमरन सिंह नाम की एक यूजर ने राहुल के इस ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा कि, “ईद मुहर्रम बकरीद पर सुबह 7 बजे शुभकामनाएं देने वाले जनेऊधारी पंडित जी हिन्दू त्योहारों पर शुभकामनाएं देने में दोपहर क्यूं हो जाती है”

सिमरन सिंह के अकाउंट से लिया गया ट्वीट

बता दें कि राहुल गाँधी ने गणेश चतुर्थी के लिए शुभकामना सन्देश दोपहर करीब 2 बजे दिया था.

इस ट्वीट के बाद मामला यही नहीं रुका, मोदी सरकार में हिन्दुओं की एकजुटता को उदाहरण बनाते हुए मनीष पाण्डेय ने लिखा कि, “वो तो हिन्दू एकजुट हो रहे हैं कि दोपहर को भी दे दे रहा है वरना रात भी हो जाती.”

फोटो सोर्स: ट्विटर

प्रिय गर्ग ने लिखा कि, “और देखना अभी नवरात्रि में पप्पू 9 दिन के व्रत रखेगा जिसने आज तक रामायण ना देखी वो रावण दहन करेगा फिर दिवाली पर लक्ष्मी पूजा भी करेगा सोचो ये तो हम हिंदुओं के एकजुट होने की शुरुआत है जो 100% हिंदू एक हो गया तो वो दिन दूर नहीं जब रावण की जगह एक दिन कांग्रेस दहन होगा”

राहुल के इस ट्वीट पर शिवम् ने कांग्रेस का बोरिया बिस्तर गुल करने की बात कह दी. उन्होंने ट्वीट करके लिखा कि, “गणपति बप्पा मोरया…, कोंग्रेस का बांधो बिस्तर बोरिया”