पीएम मोदी अपने विदेश दौरे से लौटते ही सीधे पहुँच गए थे गुजरात, लेकिन इसकी असली वजह जानकर आप भी हो जायेंगे हैरान…

पीएम मोदी देश के एक ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिनको एक अच्छी राजनीतिक सूझबूझ वाले नेता कहा जाता है, और मेरा मानना है कि इस बात में शायद ही किसी को शक हो। पीएम मोदी देश के लिए जो भी काम करते हैं वो कहीं न कहीं देखने लायक होता है या उसके पीछे कुछ न कुछ अच्छा होने कि गुंजाईश होती है और तो और अच्छे काम हुए भी हैं. पीएम मोदी ऐसे प्रधानमंत्री है जो देश के लिए बिना सोये लगातार 36-36 घंटों तक काम करते हैं, साथ ही वे अपने नेताओं को भी यही सलाह देते हैं कि वे भी सतर्कता के साथ देश के लिए काम करें.

पीएम मोदी कभी भी अपनी थकावट का गुणगान नहीं गाते बल्कि केवल अपने काम को अहमियत देते हैं, ताकि उनका देश आगे बढ़ सके और हमारा देश भी बाकी देशों के बाराबर खड़ा हो सके. हम इस बात का उद्दाहरण इसी बात से ले सकते हैं कि पीएम मोदी हाल ही में अपने तीन देशों की यात्रा से वापस लौट चुके है और वे आते ही बिना समय बर्बाद किए ने गुजरात दौरे पर निकल पड़े.और अब जब आप जब इस दौरे कि असली वजह जानेंगे तो आप भी कहेंगे कि क्या कोई प्रधानमंत्री ऐसा भी हो सकता है..

अगर गुजरात में बीजेपी के सामने विपक्ष की स्थिति देखें तो वो लगभग न के बराबर है। ऐसे में पीएम मोदी अपने गृह राज्य के दो दिन के दौरे पर हैं। पीएम के इस दौरे को इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

पीएम मोदी अपने काम को बेहद गंभीरता से लेते हैं। और वे हमेशा हर मुद्दे और मामले को अच्छे से समझने के लिए जमीनी स्तर तक जाते हैं, और बनाई गई रणनीति पर काम करते हैं. पीएम मोदी ने इस गुरुवार को लगातार 17 घंटे तक काम किया। वह कई जगह गए और उन्होंने वहां लोगों से सीधे बात जीत की। पीएम मोदी ने इस दौरे में जितने भी कार्यक्रम किए उन सबका असर चुनावी तौर पर भी देखा जा रहा है।

पिछले 40 साल में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी प्रधानमंत्री ने राजकोट का दौरा किया है। ऐसे में राजकोट बीजेपी के कार्यकर्ता, किसान और पाटीदार समाज के लोग काफी खुश भी हैं। राजकोट को गुजरात में आरएसएस का केंद्र कहा जा सकता है। मुख्यमंत्री विजय रुपानी भी इसी जगह से हैं, और शायद आपको मालूम न हो कि पीएम मोदी भी पहली बार इसी जगह से चुने जाने के बाद राज्य के सीएम बने थे।

Loading...
Loading...