मोबाइल ग्राहकों के लिए आई के बुरी खबर, 90 करोड़ सिम कार्ड यूजर्स को करवाना पड़ सकता है फिर से…

35

अभी कुछ दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने आधार के प्रयोग पर फैसला सुनाते हुए कहा था कि आधार का प्रयोग सिम कार्ड लेने के लिए जरुरी नहीं, बिना आधार के, दूसरे दस्तावेजों से भी सिम कार्ड लिया जा सकता है. आधार के प्रयोग के गैर जरुरी होने के बाद अब टेलीकॉम कम्पनियों की तरफ से फिर से सत्यापन करवाया जा रहा है. ऐसे में ग्राहकों को मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है.

अमर उजाला की खबर के मुताबिक अब आधार के प्रयोग ना करने से ग्राहकों को दोबारा सत्यापन करवाना पड़ सकता है. इस कवायद में कम्पनियों को करीब 90 करोड़ ग्राहकों के सत्यापन करने पड़ सकते हैं. वैसे इस मामले में दूरसंचार के सचिव अरुणा सुंदरराजन का कहना है कि ‘अगर कम्पनियों द्वारा सत्यापन कराये भी जाते हैं तो भी ग्राहकों की सेवा में कोई बाधा नहीं आयेगी.’

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में टेलीकॉम कम्पनियों को आधार के इस्तेमाल की इजाजत नहीं दी जिसके बाद से इन कम्पनियों को फिर से सत्यापन की जरूरत पड़ सकती है. इस तरह के सत्यापनों में लगभग एक सप्ताह का भी समय लग सकता है. खबर ये भी है कि टेलीकॉम कम्पनियों की तरफ से वक्त आधार से सत्यापन करने पर वक्त माँगा गया है. उधर सरकार भी इस मामले की हर पहलू पर विचार कर रही है.

ऐसे में आपको होशियार रहना होगा कि सत्यापन आपको भी करवाना पड़ सकता है. अगर ऐसा हुआ तो आपकी परेशानी बढ़ने ही वाली है और आपको सत्यापन के लिए जद्दोजेहद करनी पड़ेगी. फ़िलहाल दूरसंचार सचिव साफ़ कर चुके हैं कि सत्यापन के दौरान ग्राहकों की सेवाएं प्रभावित नहीं होंगी.

Loading...
Loading...