नवाज़ शरीफ के SCO में पीएम मोदी से मिलने से पहले ही तय हो गया था कि इस बार मीठे बोल बोलकर…

भारत के प्रधानमंत्री मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने गुरुवार को कजाकिस्तान की राजधानी अस्ताना में मुलाकात की. इसके बाद शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी ने SCO समिट को संबोधित किया और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सभी देशों से एकजुट होने को कहा.

source

इस समिट में सम्भावना थी कि पाकिस्तान और भारत के बीच रिश्तों में आई खटास ज़ाहिर होगी लेकिन हुआ इसके विपरीत. इस बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने बड़ी गर्मजोशी से पीएम मोदी से मुलाक़ात की. इस बात से सबको ख़ुशी हुई लेकिन अब नवाज़ के बदले रुख के पीछे की हक़ीकत सामने आई है.

अक्सर भारत का विरोध करने वाला पाकिस्तान इस बार बदला-बदला नजर आया. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने मंच से SCO में शामिल होने पर भारत को बधाई दी. हालांकि भारत पाकिस्तान को इस मंच पर भी नजरअंदाज करता नजर आया.

source

लेकिन पाकिस्तान के इस बदले रुख के पीछे एक बड़ी वजह थी. जैसा कि हम जानते हैं पीएम मोदी ने वन बेल्ट वन रोड प्रोजेक्ट पर आपत्ति जताई है. ये प्रोजेक्ट चीन का है और बिना भारत की सहमती के इसमें दिक्कत आ सकती है. विशेषज्ञों की माने तो इसीलिए चीन ने वन बेल्ट वन रोड परियोजना में भारत को शामिल कराने के लिए पाकिस्तान को आदेश दिया था कि वो भारत के साथ नरमी बरते.

source

कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि पाकिस्तान ने चीन के दबाव में आकर भारत के प्रति नरमी दिखाई है. इस समिट से पहले चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने साफ लहजे में कहा था कि पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे को लेकर SCO को लड़ाई का अखाड़ा नहीं बनाएगा. माना जा रहा है कि चीन की सख्ती के चलते पाकिस्तान इस मंच में बदला-बदला दिखा है.